उत्तराखंड के 3000 सरकारी प्राथमिक और जूनियर स्कूल होंगे बन्द

उत्तराखंड के तीन हजार सरकारी प्राथमिक और जूनियर स्कूलों को बंद किए जाने के फैसले पर मुहर लग गई है शिक्षा सचिव चंद्रशेखर भट्ट ने बीते दिनो मे आदेश भी जारी कर दियाहै आदेश के मुताबिक बंद होने वाले स्कूलों का आस-पास के दूसरे सरकारी विद्यालयों में विलय कर दिया जाएगा राज्य में छात्रों की संख्या लगातार घटने की वजह से 3000 सरकारी प्राथमिक और उच्च प्राथमिक विद्यालयों को बंदी के कगार पर ला दिया है

विद्यालय शिक्षा सचिव चंद्रशेखर भट्ट ने यह निर्देश दिए हैं और कहा है कि  10 या फ़िर 10 से कम छात्र संख्या वाले ऐसे विद्यालयों को पास के विद्यालय में मिला ही दिया जाएगा इस निर्देश के बाद विद्यालयों के 5000 शिक्षकों को भी बड़ा झटका लगने वाला है क्योंकि इन शिक्षकों को भी नजदीकी विद्यालयों में खाली पदों पर समायोजित किया जाएगा प्रदेश में हर साल सरकारी प्राथमिक और उच्च प्राथमिक विद्यालयों में छात्रों की संख्या में गिरावट दर्ज की जा रही है

राज्य गठन के बाद से अब तक प्राथमिक विद्यालयों में छात्रसंख्या घटकर 50 प्रतिशत से कम रह गई है बीते हुए महिने मे मुख्य मंत्री सीएम त्रिवेंद्र रावत के साथ हुई शिक्षक संगठनों की बैठक में भी यह मुद्दा उठाया गया था तब सीएम ने कम छात्रसंख्या वाले प्राथमिक और उच्च प्राथमिक विद्यालयों को नजदीकी प्राथमिक और उच्च प्राथमिक विद्यालयों में मिलाने के आदेश भी दिए हैं बंद किए जाने वाले सभी स्कूल वो हैं जिनमें प्रदेश में लगभग 2500 प्राइमरी तथा 500 से ज्यादा जूनियर स्कूल ऐसे हैं जिनमें दस से कम बच्चे पढ़ रहे हैं जिसमे छात्र संख्या दस या दस से कम है

निर्देश के मुताबिक यह भी कहा गया है कि एक किलोमीटर के दायरे में आने वाले कितने भी प्राथमिक विद्यालयों तथा तीन किलोमीटर के दायरे में आने वाले जूनियर स्कूलों को मिला दिया  जाएगा प्रदेश के शिक्षा मंत्री  अरविंद पांडे ने सरकार गठन के कुछ दिन बाद ही दस से  कम छात्र संख्या वाले सरकारी स्कूलों को बंद करने  की बात कही थी उनका कहना था कि शिक्षा की गुणवत्ता  के लिए यह कदम उठाया जाना बहुत ही ज्यादा जरूरी है सरकार के अनुसार बंद होने वाले स्कूलों के भवन और खेल के मैदान पंचायती राज तथा खेल विभाग को सौंप दिये जाएंगे सरकार का कहना यह है कि भवनों का इस्तेमाल गांवों की सामाजिक गतिविधियों के लिए किया जाएगा

Online Hindi News ऑनलाइन हिंदी न्यूज़ पोर्टल में आप सभी देश और उत्तराखण्ड की न्यूज़  (उत्तराखंड हिंदी समाचार ) अपडेट के लिए हमारे साथ जुड़ सकते हैं और हमें अपने सुझाव व् न्यूज़ todayhindisamachar@gmail.com पर भेज सकते हैं।

Comments