खतरनाक ब्लू ह्वेल गेम की चपेट मे उत्तराखंडी बच्चे

उत्तराखंड में खतरनाक ब्लू ह्वेल गेम की चपेट मे बच्चे उत्तराखंड में भी  ब्लू ह्वेल गेम बच्चों को अपनी ओर में लेते जा रहे हैं देहरादून में भी इस खतरनाक खेल के तीन नए मामले सामने आए है दो मामले पटेलनगर थाना क्षेत्र में स्थित एक ही स्कूल के हैं जबकि एक मुद्दा केंद्रीय विद्यालय में पढ़ने वाले छात्र का है स्कूल के प्रिंसीपल ने दोनों छात्रों के अभिभावकों को बुलाकर मामला समझाया है और काउंसिलिंग के बाद मेडिकल सर्टिफिकेट के साथ ही स्कूल आने  को कहा है

छात्र ने काटी नस पटेलनगर थाना क्षेत्र के एक पब्लिक स्कूल में सातवीं के छात्र ने स्कूल में ही अपने हाथ की नस ब्लेड से काट ली थी बच्चे के हाथ से खून निकलता देख दूसरे छात्रों ने इसकी सूचना काॅर्डीनेटर को दी इसके बाद मामला प्रिंसीपल तक पहुंचा इसी स्कूल में 10वीं का एक छात्र को भी उसके दोस्तों ने ब्लू ह्वेल गेम खेलते हुए पाया था इस घटना के बाद प्रिंसिपल ने दोनों छात्रों के अभिभावकों को स्कूल बुलाकर सारा मामला बताया स्कूल ने दोनों बच्चों की काउंसिलिंग के बाद मेडिकल सर्टिफिकेट मिलने के बाद ही स्कूल आने को कहा है

अभिभावक नजर रखें तिसरी घटना में एक केंद्रीय विद्यालय में 10वीं का  बच्चा भी ब्लू ह्वेल गेम खेलने का आदी पाया गया ऑर यह भी बताया जाता है कि छात्र को उसकी ट्यूशन टीचर ने सबसे पहले मोबाइल पर खतरनाक गेम खेलते हुए पकड़ा इसके बाद उन्होंने अभिभावकों को सूचना दी जानकारी स्कूल को मिली तो स्कूल ने छात्र को अभिभावकों की निगरानी में सौंप दिया है

मनोचिकित्सक का कहना है कि अभिभावकों को बेवजह बच्चों को मोबाइल नहीं देना चाहिए ब्लू व्हेल गेम अवसादग्रस्त बच्चों को जल्दी आकर्षित करता है बच्चों के व्यवहार पर माता-पिता  नजर जरुर रखनी चाहिए

Online Hindi News ऑनलाइन हिंदी न्यूज़ पोर्टल में आप सभी देश और उत्तराखण्ड की न्यूज़  (उत्तराखंड हिंदी समाचार ) अपडेट के लिए हमारे साथ जुड़ सकते हैं और हमें अपने सुझाव व् न्यूज़ todayhindisamachar@gmail.com पर भेज सकते हैं।

Comments