पत्नी के हत्यारे राजेश गुलाटी को उमर कैद

अनुपमा गुलाटी हत्याकांड सॉफ्टवेयर इंजीनियर राजेश गुलाटी को जिला अदालत ने आजीवन कारावास उमर कैद की सजा सुनाई है और 15 लाख रुपए का जुर्माना भी लगाया है। देहरादून मे शुक्रवार 1 सितंबर को अपर जिला एवं सत्र न्यायालय अदालत ने यहां फैसला दिया है कि राजेश गुलाटी को हत्या की धारा 302 के तहत आजीवन कारावास की सजा सुनाते हुए 15 लाख का जुर्माना भी लगाया है और  राज छुपाने के कारण 201 के तहत 3 साल की सजा और पांच लाख का जुर्माना  लगाया है।

अदालत ने राजेश गुलाटी को गुरुवार को ही दोषी करार दे दिया था शुक्रवार को राजेश गुलाटी के वकिल ने कहा कि उसपे हत्या धारा की सजा नहीं बनती क्योंकि कोई गवाह नहीं है जब की अभियोजन पक्ष में यहां कहां है कि जो टुकड़ों में बटी लाश मिली है वह अपने आप में ही साबित है की राजेश गुलाटी में ही हत्या की है। राजेश गुलाटी ने 2010 में अपनी पत्नी अनुपमा गुलाटी के 72 टुकडे करके उसकी हत्या कर दी और 56 दिन तक घर के डीप फ्रीजर में रख दिया अदालत मे सरकारी वकील ने राजेश गुलाटी को यहां तक कह दिया कि जो काम राजेश गुलाटी ने किया है वह किसी पिशाच से कम नहीं है।

इस लिये इसे फांसी की सजा सुनाई जाए अदालत ने अपना फैसला सुनाते हुए कहा है कि राजेश गुलाटी को उम्र कैद की सजा होगी तथा 15 लाख जुर्माना राजेश गुलाटी को देना होगा जिस में से 14 लाख 70 हजार  अनुपमा के बच्चों को दिया जाएगा भारी बारिश में भी कोट की कार्यवाही में भीड़ जमा थी कोट की  की कारवाही के बाद सब लोग अदालत के फैसले से संतुष्ट थे। अनुपमा गुलाटी हत्याकांड में पैशे से सॉफ्टवेर इंजीनियर राजेश गुलाटी ने अनुपमा से 10 फरवरी 1999 में लव मैरिज की थी।

17 अक्टूबर 2010 को देहरादून के प्रकाश नगर कैट श्रेत्र में राजेश गुलाटी ने पत्नी अनुपमा का  कत्ल कर दिया अनुपमा गुलाटी के  शव को राजेश गुलाटी ने 72 टुकडे कर  लाश को 56 दिनों तक डीप फीर्जर में रखा। 12 दिसंबर 2010 को अनुपमा गुलाटी हत्याकांड का खुलासा हो गया।

31अगस्त 2017 को राजेश गुलाटी को दोषी करार दिया गया देहरादून के जिला अदालत में उसे दोषी ठहराया गया। 1 सितंबर 2017 को राजेश गुलाटी को क उम्र कैद कारावास की सजा व15 लाख का जुर्माना लगाया गया।

Online Hindi News ऑनलाइन हिंदी न्यूज़ पोर्टल में आप सभी देश और उत्तराखण्ड की न्यूज़  (उत्तराखंड हिंदी समाचार ) अपडेट के लिए हमारे साथ जुड़ सकते हैं और हमें अपने सुझाव व् न्यूज़ todayhindisamachar@gmail.com पर भेज सकते हैं।

Comments