मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने जनता मिलन कार्यक्रम में लोगों की समस्याओं को सुना


मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने सीएम आवास स्थित जनता मिलन हाॅल में आयोजित जनता मिलन कार्यक्रम में लोगों की समस्याओं को सुना। मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने सोमवार को मुख्यमंत्री आवास स्थित जनता मिलन हाल में आयोजित जनता मिलन कार्यक्रम में लोगों की समस्याओं को सुना। मुख्यमंत्री ने संबन्धित अधिकारियों को आवेदनों और शिकायतों पर कार्यवाही करने के निर्देश दिये। जनता मिलन कार्यक्रम में लगभग 400 से अधिक आवेदन प्राप्त हुए जिसमें लगभग 300 आवेदन आर्थिक सहायता के थे। मुख्यमंत्री ने आर्थिक सहायता संबन्धी आवेदनों को पंजीकृत कर अनका परीक्षण कराने के निर्देश दिये।

विभागों से संबन्धित समस्याओं पर संबन्धित अधिाकरियों से रिपोर्ट तलब की गई। कुछ पर तत्काल कार्यवाही के निर्देश भी दिये गये। सभी शिकायतों को मुख्यमंत्री कार्यालय में दर्ज कर उनका नियमित अनुश्रवण करने के निर्देश भी दिये गये। विकासनगर निवासी श्री कुंवर सिंह नेगी एवं अन्य ने अपने भूमि के दस्तावेजों में हेराफेरी की शिकायत की, जिस पर मुख्यमंत्री ने कमिश्नर को जांच करने के आदेश दिये। नया गांव, देहरादून की रोशनी देवी ने ग्राम समाज की भूमि आवंटन का आवेदन दिया।

चमोली से आये श्री गबर सिंह ने अतिवृष्टि और बर्फवारी के कारण भवन के क्षतिग्रस्त होने की समस्या बताई जिस पर मुख्यमंत्री ने उनके लिये विवेकाधीन कोष से प्रस्ताव बनाने को कहा। नगरीय क्षेत्र में अतिक्रमण हटाओ अभियान से प्रभावित कुछ लोग मुख्यमंत्री से मिले जिस पर उन्होंने एमडीडीए को प्रकरण का परीक्षण कर रिपोर्ट देने को कहा। हरवंशवाला टी स्टेट के श्री रतन सिंह चैहान ने क्षेत्र में लगभग 01 किमी सम्पर्क मार्ग बनाने की मांग की जिस पर एमडीडीए को आवश्यक कार्यवाही के निर्देश दिये गये। कई मुलाकातियों ने भवन और जमीन की मांग भी की, जिस पर सीएम ने सीडीओ को प्रधानमंत्री आवास योजना के अन्तर्गत आवेदन प्राप्त करने के निर्देश दिये।

उन्होंने सीडीओ देहरादून को प्रधानमंत्री आवास योजना में छूटे हुए लाभार्थियों के लिये पुनः शीघ्र सर्वे कराने के निर्देश भी दिये। कोटद्वार से आये अमर शहीद स्मृति विकलांग नेत्रहीन संस्थान के अध्यक्ष श्री गोपाल सिंह रावत ने संस्थान को जमीन आवंटन होने के उपरांत भी वैध कब्जा न मिलने की शिकायत की। उन्होंने यह भी बताया कि संस्थान को 06 माह से कम्प्यूटर प्रशिक्षण कार्यक्रम का भुगतान नहीं हुआ है। मुख्यमंत्री ने विकलांग/नेत्रहीन संस्थान की शिकायत को गंभीरता से लेते हुए कमिश्नर गढ़वाल को पूरा प्रकरण देखने के लिये कहा।

उन्होंने कम्प्यूटर प्रशिक्षण भुगतान हेतु एमडी बहुद्देशीय वित्त विकास निगम को भी आवश्यक कार्यवाही के निर्देश दिये। पुरोला से आये श्री दुर्गेश्वर लाल ने क्षेत्रीय समस्याओं से संबन्धित एक ज्ञापन सौंपा जिस पर डीएम एवं कमिश्नर से रिपोर्ट मांगी गई। कुछ सरकारी सेवा संबन्धी मामले भी जनता मिलन कार्यक्रम में आये जिन पर मुख्यमंत्री ने विभागाध्यक्षों को आवश्यक कार्यवाही के निर्देश दिये। जनता मिलन में शिक्षा विभाग, खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति, विद्युत, उरेडा, जलसंस्थान, स्वास्थ्य, ग्राम्य विकास, अल्पसंख्यक कल्याण, लोक निर्माण विभाग, सिंचाई विभाग आदि विभागों से संबन्धित समस्याएं दर्ज की गई। कार्यक्रम मेें प्रमुख सचिव श्री आनंद वर्द्धन, सचिव श्री आर.मीनाक्षी सुंदरम, अपर सचिव डाॅ.पंकज कुमार पाण्डेय, वीसी एमडीडीए श्री विनय शंकर पाण्डेय, अपर सचिव श्री वी.षणमुगम सहित जनपद स्तरीय अधिकारी उपस्थित थे। कार्यक्रम का संचालन मंडलायुक्त श्री दिलीप जावलकर ने किया।

Comments