उदयपुर: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हैंगिंग ब्रिज का किया उद्घाटन

उदयपुर में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हैंगिंग ब्रिज का उद्घाटन किया झीलों की नगरी उदयपुर 29 अगस्त 2017 यानि कि आज पीएम प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी उदयपुर में हैंगिंग ब्रिज का उद्घाटन किया पीएम मोदी प्रमुख राष्ट्रीय परियोजना का उद्घाटन किया। इसके साथ पीएम मोदी जयपुर में पीएम मोदी 11 नेशनल हाईवे प्रोजेक्ट का उद्घाटन करेंगे पीएम मोदी नरेंद्र मोदी राजस्थान के दौरे पर उद्घाटन करने जा रहे हैं। इससे पहले पीएम मोदी ने राजस्थान में कई सड़क परियोजना का उद्घाटन किया।

उसके बाद पीएम नरेंद्र मोदी ने हैंगिंग ब्रिज का उद्घाटन किया राजस्थान के उदयपुर में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 15000 करोड रुपए की लागत से यह नेशनल हाईवे की परियोजना का शुभारंभ किया उद्घाटन होने के दौरान रैली को संबोधित करते हुए केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने यह कहा कि जितनी सर के पिछले 7 वर्षों से नहीं बनी है। उतनी सड़के तो पिछले 3 वर्षों में हम लोगों ने बना डाली केंद्रीय मंत्री नितिन ने यह भी कहा कि सड़क बनने का काम काफी तेजी से हुआ है और बिना किसी रूकावट के प्रोजेक्ट पूरा दिन हो गया ।

उन्होंने यह भी कहा कि पहले राजस्थान में सड़क बनने से पहले बहुत दिक्कतें आती थी इसके साथ साथ उन्होंने यह भी कहा कि ब्रिज का भूमिपूजन भले ही कांग्रेस ने किया हो लेकिन काम को पूरा हमने किया है। राजस्थान की सीएम ने भी संबोधित करते हुए यह बताया कि हम ने बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना के तहत स्कूलों में कार्य किया है और सीएम वसुंधरा ने यह भी कहा कि उन्होंने अंतर्राष्ट्रीय स्तर बुद्धिजीवियों को बुलाया था जिसके कारण काफी फायदा भी हुआ।

 उज्वला के योजना के कारण काफी महिलाओं को फायदा हुआ है इसी के साथ साथ उन्होंने यह भी बताया कि स्वच्छ भारत 2018 को राजस्थान में पूरी तरह लागू किया जाएगा स्वच्छ भारत की पूरी पूरी कोशिश की जा रही है कोटा के चंबल नदी पर बने हैंगिंग ब्रिज का पीएम मोदी ने उद्घाटन किया यह देश का तीसरा हैंगिंग ब्रिज है। इस ब्रिज पर एक भी क्लियर नहीं है पुल की चौड़ाई 30 मीटर है पुल पर एक फुटपाथ भी बनाया गया है जो 1.6 मीटर का है यह ब्रिज पूर्वी और पश्चिम भारत के 7 राज्यों के राजमार्गों को जोड़ने वाली ईस्ट वेस्ट कॉरिडोर भी बना है।

यह ब्रिज 277 करोड़ की लागत से बना हुआ है ब्रिज का काम 2008 में शुरू हुआ लेकिन 2009 में ब्रिज इंजीनियरिंग की लापरवाही के कारण गिर गया 48 लोगों की मौत हो गई ब्रिज को दोबारा बनाने का काम 2014 में शुरू हुआ उसके बाद जाकर 2017 में ब्रिज का उद्घाटन किया इस  के कारण गुजरात के पोरबंदर से असम के सिलचर तक सड़क पर बिना रुके जाया जा सकता है।

Online Hindi News ऑनलाइन हिंदी न्यूज़ पोर्टल में आप सभी देश और उत्तराखण्ड की न्यूज़  (उत्तराखंड हिंदी समाचार ) अपडेट के लिए हमारे साथ जुड़ सकते हैं और हमें अपने सुझाव व् न्यूज़ todayhindisamachar@gmail.com पर भेज सकते हैं।

Comments