पुरस्कार पाकर अंतरराष्ट्रीय क्रिकेटर खिलाड़ी ने जताई नाराजगी

एकता बिष्ट मानसी जोशी दोनों अंतर्राष्ट्रीय महिला क्रिकेटर है यह महिला क्रिकेटर विश्व कप के उपविजेता भी रह चुकी हैं उन्होंने सरकार द्वारा पुरस्कार प्राप्त किए हैं परंतु पुरस्कार पाकर नाखुशी दिखाई वहां पुरस्कार पाकर भी खुश नहीं थी। एकता बिष्ट मानसी जोशी के अनुसार जो पुरस्कार उन्हें प्राप्त हुए हैं वहां उस से अच्छे पुरस्कार की भागीदारी थी उनका मानना यह है कि जो प्राइज में मिला है उन्हें इस पुरस्कार की उम्मीद नहीं थी इस पुरस्कार से तो अच्छा था कि उन्हें बुलाया ही नहीं जाता इससे अच्छा तो राज्य में पुरस्कार दिया जा रहा था।

एकता और मानसी ने कहा कि मंत्री अरविंद पांडे ने हमसे मुलाकात कर बड़े सप्राइज देने की बात कही थी एकता और मानसि को ऐसे पुरस्कार की  उम्मीद नहीं थी। प्रदेश सरकार उनके प्रदर्शन के अनुरूप पुरस्कृत करेगी महिला विश्व कप में विजेता रह चुकी एकता और मानसी दोनों बेटियों को विशेष रुप से सम्मानित किया जाएगा एकता और मानसी को ऐसे पुरस्कार की उम्मीद नहीं थी सरकार की ओर से 5 लाख रुपए के चैक प्रदान कर सरप्राइज दिया गया परंतु यह एकता और मानसी को इसकी उम्मीद बिल्कुल ही नहीं थी।

एकता ने मंच पर खेल मंत्री के सामने ही अपनी नाखुशी ऑर नाराजगी जताई उन्होंने कहा कि जिस सप्राइज देने की बात कही गई थी सच में वैसा ही हुआ इससे अच्छा तो यह होता कि वह हमें बुलाते ही नहीं विश्व कप खेलने वाली व जीतने वाले क्रिकेटर महिला ने कहा कि.....
वहां की सरकार ने एक करोड़ की राशि दे रही है

मानसी जोशी ने यह कहा कि विश्व कप के एक महीने बाद ऐसा सम्मान मिलना उनकी उम्मीद से परे था
मंगलवार यानी कि 29 अगस्त को राष्ट्रीय खेल दिवस ( वर्ल्ड गेम्स डेय ) राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय की प्रतियोगिता में विजय हुई मानसी और एकता सम्मान समारोह में आई उन्हें 5 लाख की राशि प्रदान की गई जिस पर उन्होंने नाखुशी जताई है।

संयुक्त निदेशक खेल प्रशांत आर्य ने कहा कि एकता बिष्ट से रेलवे के नियमों की जानकारी मांगी ताकि खिलाड़ियों को रोजगार मिले , और खेल भी ना छूटे मानसी और एकता ने इससे भी नाराजगी जताई कि जो हमारे साथ प्रशिक्षक खेल रहे थे उन्हें उन्हें सिर्फ सौल ऑर मैडल ही दिया गया है यहां भेदभाव नहीं तो और क्या है।

सरकार ने एकता ऑर मानसी जोशी को जॉब ऑफर्स दिए पर वह अपने करियर पर रोक नहीं लगाना चाहती हैं वह क्रिकेट के साथ कोई समझौता नहीं करना चाहती है।

Online Hindi News ऑनलाइन हिंदी न्यूज़ पोर्टल में आप सभी देश और उत्तराखण्ड की न्यूज़  (उत्तराखंड हिंदी समाचार ) अपडेट के लिए हमारे साथ जुड़ सकते हैं और हमें अपने सुझाव व् न्यूज़ todayhindisamachar@gmail.com पर भेज सकते हैं।

Comments