मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने समस्त जिलाधिकारियों से क्यों की वीडियो काॅन्फ्रेंसिंग

मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने गुरूवार को सचिवालय में समस्त जिलाधिकारियों के साथ वीडियो काॅन्फ्रेंसिंग के माध्यम से विभिन्न विकास कार्यक्रमों तथा आपदा प्रबंधन की तैयारियों की समीक्षा की। वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए CM ने कीया विकास के कार्यो पर वार्तालाप लगभग 5 घण्टे चली मैराथन समीक्षा बैठक में मुख्यमंत्री ने आपदा प्रबंधन, विकास योजनाओं, शहरी स्वच्छता, प्रधानमंत्री आवास योजना, जल संचय, तहसील दिवस, समाधान पोर्टल, कानून व्यवस्था, चार धाम यात्रा, काँवड, बायोमैट्रिक हाजिरी, कार्य संस्कृति में सुधार, स्थानीय लोगों एवं किसानो की आजीविका में वृद्धि जैसे कई मुद्दों पर समीक्षा की।

वीडियो काॅन्फ्रेंसिंग के माध्यम से विभिन्न विकास कार्यक्रमों तथा आपदा प्रबंधन की तैयारियों की समीक्षा जो की गई उसमे वीडियो कांफ्रेंसिंग में मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र ने बायोमैट्रिक हाजिरी, जल संचय, हरेला जैसे मुद्दों पर जिलाधिकारी नैनीताल को रिपोर्टिंग और कार्य में सुधार लाने की नसीहत भी दी। आपदा प्रबन्धनः अधिकारी 24 घण्टे ‘रेडीमोड‘ मे रहें सीएम मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र ने जिलाधिकारियों को निर्देश दिये कि शहरी क्षेत्रों में तीव्र प्रवाह की जल निकासी की व्यवस्था के लिए ठोस उपाय किये जाए। दैवीय आपदा में सरकार द्वारा दी जाने वाली सहायता में सभी जिलाधिकारी तत्परता दिखाए।


आपदा में जनहानि की दशा में 24 घंटे के भीतर सहायता देने का प्रयास करें। मुख्यमंत्री ने कड़े शब्दों में चेताया कि सहायता राशि की स्वीकृति मात्र से काम नहीं चलेगा, लोगों को सहायता मौके पर अतिशीघ्र मिलनी चाहिए। इस मामले में कोई कोताही स्वीकार नहीं होगी। सार्वजनिक मार्गों एवं नालों पर हुए अतिक्रमण को तत्काल हटाया जाय। इसमें कोई लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी। CM ने जिलाधिकारियों से पूछा कि बाढ़ चैकियों की क्या स्थिति है उन्होने सभी बाढ़ चैकियों को आपदा प्रबंधन के उपकरणों से लैस करने के निर्देश दिये।


सभी सरकारी कार्मिक अपना मोबाइल 24 घण्टे खुला रखें। इसके साथ ही सभी नदियों की लगातार गहन मॉनिटरिंग भी करने के निर्देश दिये। उन्होने जिलाधिकारियों से कहा कि खतरे के स्थान के बेहद नजदीक पहुँच चुकी नदियों के निकट की आबादियों को सुरक्षित स्थान पर विस्थापित करने की योजना तैयार रखे। मुख्यमंत्री ने सभी अधिकारियों को 24 घण्टे ‘रेडी मोड’ में रहने को कहा है। आपदा में रिस्पांस टाइम में सुधार हुआ है परन्तु इसे और बेहतर करने की जरूरत है। इस वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में और भी बहुत से विकास कार्यक्रमों तथा आपदा प्रबंधन  मुद्दों को मद्दे नज़र रखा गया।

Online Hindi News ऑनलाइन हिंदी न्यूज़ पोर्टल में आप सभी देश और उत्तराखण्ड की न्यूज़  (उत्तराखंड हिंदी समाचार ) अपडेट के लिए हमारे साथ जुड़ सकते हैं और हमें अपने सुझाव व् न्यूज़ todayhindisamachar@gmail.com पर भेज सकते हैं।

Comments