उत्तराखंड में शराब निति फाइनल पहाड़ो पर 6 बजे बाद शराब बंद Wine Shop Will Close After 6 PM

उत्तराखंड में शराब निति फाइनल पहाड़ो पर 6 बजे बाद शराब बंद Wine Shop Will Close After 6 PM:-
देहरादून उत्तराखंड में शराब की नयी निति को लेकर राज्य सरकार ने मंत्री मंडल की बैठक में अपनी मोहर लगा दी है।  एक जून से उत्तराखंड में नयी शराब निति के तहत दुकानों की नीलामी होगी शराब की दुकानों को लेकर राज्य में विरोध के बाद भी सरकार ने नया फैसला लिया है।  पर्वतीय जनपदों में शराब की बिक्री अब 12 बजे से शाम 6 बजे तक हो सकेगी शराब का विरोध भी पर्वतीय जनपदों में तेज़ हो रहा है जिस को लेकर राज्य सरकार ने शराब के समय में कटौती को लेकर फैसला लिया है।  देहरादून,हरिद्वार,उधमसिंघनगर,नैनीताल चार जनपदों में शराब का समय पुराना रखा गया है।

त्रिवेंद्र सिंह रावत की कैबिनेट की बैठक में आबकारी नीति के तहत 2310  करोड़ आय का लक्ष्य लक्ष्य निर्धारित किया गया। साथ ही तय किया गया कि शराब पर दो फीसद सेस लगाया जाएगा। सेस की यह धनराशि सामाजिक सुरक्षा और सड़क सुरक्षा पर खर्च होगी।उत्तराखंड में भाजपा की नई सरकार बनने के बाद शराब नीति के मामले में बड़ी चुनौती पेश आई। राज्य के सभी जिलों में शराब विरोधी आंदोलन शुरू हो गए। इसके मूल में राष्ट्रीय राजमार्गों से शराब की दुकानों को हटाना कारण रहा। शासन ने फौरी व्यवस्था करते हुए राष्ट्रीय राजमार्गों से हटने वाली दुकानों को नजदीक ही ऐसे मार्गों पर स्थानांतरण कर दिया जो राज्य मार्ग की श्रेणी में आते हैं, लेकिन जनता ने शासन की इस नीति को स्वीकार नहीं किया और यह फैसला बाउंस बेक होकर सरकार के गले की फांस बन गया।


इसके बाद सरकार ने बीच का रास्ता निकालते हुए कई राष्ट्रीय राजमार्गों को जिला मार्ग घोषित किया। इसके बावजूद शराब विरोधी आंदलन थमने के बजाय और फैल गए। वर्तमान में स्थिति यह है कि पहाड़ों के साथ ही मैदानी जिलों में भी शराब विरोधी आंदोलन सरकार की सबसे बड़ी मुश्किल बने हैं। इस हालात में आज कैबिनेट ने नई शराब नीति को मंजूरी दे दी।

Comments