उत्तराखंड पुलिस के चालान में घोटाला मित्र पुलिस का कारनामा Uttarakhand Police

उत्तराखंड पुलिस के चालान में घोटाला मित्र पुलिस का कारनामा Uttarakhand Police:-  ट्रैफिक नियम का पालन करवाने के लिए बनायीं गयी  सिटी पेट्रोल यूनिट (सीपीयू) ने चालान की राशि सरकारी कोष में जमा करवाए जाने का एक घोटाला सामने आया है उत्तराखंड पुलिस में हुए इस घोटाले का खुलासा सूचना अधिकार अधिनियम के तहत मांगी गयी सूचना से सामने आया है। देहरादून: सिटी पेट्रोल यूनिट (सीपीयू) के चालान और राजकोष में जमा कराई गई राशि में 19.39 लाख रुपये का अंतर मिला है।

यह राशि कहां गई, इसका कोई ब्योरा पुलिस के पास नहीं है। चालान की राशि के इस गोलमाल का खुलासा आरटीआइ कार्यकर्ता भूपेंद्र कुमार की ओर से पुलिस मुख्यालय से मांगी गई जानकारी में हुआ है। कुछ समय पहले पुलिस मुख्यालय ने अपनी उपलब्धियां जारी करते हुए बताया था कि एक अप्रैल 2014 से सीपीयू ने सितंबर 2015 तक उनके गठन के हिसाब से देहरादून, हरिद्वार व नैनीताल/ हल्द्वानी में दो लाख 67 हजार 505 चालान काटे और इससे प्राप्त 3.15 करोड़ रुपये राजकोष में जमा कराए हैं।

इन उपलब्धियों के आधार पर भूपेंद्र कुमार ने तीनों जनपद में एक अप्रैल 2014 से सितंबर 2015 तक किए गए चालान और उनकी राशि का ब्योरा मांगा। जो जानकारी उन्हें पुलिस मुख्यालय से प्राप्त हुई, उनमें भारी अंतर सामने आया। पता चला कि उपलब्धियों में चालान और राजकोष में जमा राशि का जो ब्योरा दिया गया है, वह वास्तविक राशि से 19.39 लाख रुपये कम है। उन्होंने इस बाबत पुलिस मुख्यालय को पत्र लिखकर अवगत भी करा दिया है।

Comments