हरीश रावत गिरफ्तार सहसपुर पुलिस ने किया गिरफ्तार Harish Rawat Arrested From Sahaspur

हरीश रावत गिरफ्तार सहसपुर पुलिस ने कैसे किया गिरफ्तार पूरी खबर देखे :- देहरादून उत्तराखंड पुलिस ने हरीश रावत को गिरफ्तार किया है पुलिस की गिरफ़्तारी के बाद ये खबर आग की तरह सोशल मीडिया में वायरल हो गयी है हालकि पुलिस को हरीश रावत की काफी समय से तलाश थी जिस के बाद कारवाही को अंजाम दिया गया है|


 मिली जानकारी के अनुसार पुलिस की कारवाही के बाद हर कोई राजनैतिक दल पुलिस अधिकारिर्यो को फ़ोन करते रहे बाद में पता चला की पकड़ा गया युवक चमोली का रहना वाला था जिस की पुलिस काफी समय से तलाश कर रही थी पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार थाना सहसपुर 05/09/14 को  विक्रम सिंह निवासी प्लाट न0 डी 43 इन्डस्ट्रियल एरिया सेलाकुई ने चौकी सेलाकुई पर तहरीर दी कि उसके गोदाम आटो पार्टस कम्पनी सेलाकुई से 8 LED, 24 LCD एंव एक फूड प्रोसेसर अज्ञात व्यक्ति द्वारा चोरी किये गये है। उक्त के आधार पर चौकी सेलाकुई पर मु0अ0सं0 195/14 धारा 380 भादवि0 पंजीकृत किया गया।

उक्त अभियोग में पूर्व में 1- पंकज रावत पुत्र श्री खेमा रावत नि0 ग्राम सिमली थाना कर्णप्रयाग जिला चमोली 2- सुमित कुमार पुत्र रामबहादुर निवासी मखवाड़ा थाना कोतवाली जनपद बिजनौर को 11-10-2014 एंव अभियुक्त 3- कमल कुमार पुत्र त्रषिपाल निवासी जमालपुर ठिकड़ी थाना बड़ापुर जिला बिजनौर  4- जावेद पुत्र अब्दुल रहमान निवासी बड़ा रामपुर थाना सहसपुर जिला देहरादून को दिनांक 12-10-2014 एंव हिमांशु पुत्र कल्याण दत्त शर्मा निवासी मखवाडा थाना कोतवाली देहात जनपद बिजनौर को दिनांक 1-11-14 को तथा सागर पुत्र पूरणबल्लभ निवासी ग्राम पैठाणी पो0ओ0 पांवो जिला पौड़ी गढ़वाल हाल शकरपुर थाना सहसपुर को दिनांक 30-1-14 को गिरफ्तार किया गया।  

जिनसे 10 LED बरामद हुये थे एंव परिक्षित कुमार पुत्र रणवीर सिंह निवासी स्यौहारा थाना स्यौहार जिला बिजनौर दिनांक 18-11-2014 को माननीय न्यायालय आत्म सर्मपण किया गया । उक्त सभी के विरुद्ध आरोप पत्र संख्या 30/15 दिनांक 21.2.15 को माननीय न्यायालय प्रेषित किया जा चुका है। उक्त अभियोग में वांछित चल रहे अभियुक्त हरीश रावत पुत्र रामचन्द्र सिंह निवासी ग्राम मसोली थाना पोखरी जिला चमोली को हरिपुर तिराहा सेलाकुई से दिनांक 2-4-17 को गिरफ्तार किया गया। 
उक्त के द्वारा पूछताछ में बताया गया चोरी की घटना के बाद वह मुम्बई एंव गुजरात चला गया था। उक्त अभियुक्त की गिरफ्तारी हेतु पूर्व में ही श्रीमान वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक महोदय द्वारा 1000 रु0 का ईनाम भी घोषित किया गया था। अभियुक्त को आज दिनांक 3-3-17 को माननीय न्यायालय के समक्ष पेश किया जा रहा है।
ये बहुत ही बड़ा शातिर चोर है जो बड़ी मुश्किल से और बड़े टाइम बाद पकड़ा गया है| ये है पूरी न्यूज़ इस गठन के बारे में सो आप सब लोग भी न्यूज़ रखिये ऐसे लोगो के बारे में क्या पता कब कौन क्या कर दे| For more updates related to daily news check this site. 

Comments