नए एम्स निदेशक बने रणदीप गुलेरिया का सफरनामा New Director of AIIMS

एम्स निदेशक रणदीप गुलेरिया का सफरनामा हिमाचल से विदेश:- Dr. Randeep Guleria Appointed New Director of AIIMS नई दिल्ली : पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी का इलाज करने वाले देश के जानेमाने चिकित्सक डॉ. रणदीप गुलेरिया को एम्स का नया निदेशक बनाया गया है। वे एम्स के पल्मोनरी मेडिसिन (फेफड़े से संबंधित रोगों) के विभागाध्यक्ष हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता वाली कैबिनेट की नियुक्ति संबंधी समिति (एसीसी) ने उन्हें पांच साल के लिए एम्स का नया निदेशक नियुक्त किया है। डॉ. गुलेरिया पल्मोनरी मेडिसिन और क्रिटिकल केयर में सुपर स्पेशियलिटी डिग्री डीएम (डॉक्टरेट ऑफ मेडिसिन) हासिल करने वाले देश के पहले डॉक्टर हैं।

सांस की बीमारियों व फेफड़े के कैंसर के इलाज व शोध में उनका महत्वपूर्ण योगदान रहा है। 1फेफड़े के कैंसर, अस्थमा आदि बीमारियों पर उन्होंने 400 से अधिक शोध पत्र प्रकाशित किए हैं। इसके अलावा वह चिकित्सा से संबंधित सरकार की कई सलाहकार समितियों के सदस्य भी हैं। उनकी उपलब्धियों के मद्देनजर ही केंद्र सरकार ने वर्ष 2015 में उन्हें पद्मश्री अवार्ड से सम्मानित किया। एम्स के नए निदेशक के लिए नियुक्ति प्रक्रिया की शुरुआत से ही उन्हें प्रबल दावेदार माना जा रहा था। उम्मीद है कि उनके नेतृत्व में एम्स विस्तार की परियोजनाएं पूरी होंगी और मरीजों को बेहतर चिकित्सा सुविधा मिलेगी।


मूलरूप से हिमाचल प्रदेश के रहने वाले डॉ. गुलेरिया ने वर्ष 1992 में बतौर सहायक प्रोफेसर एम्स के मेडिसिन विभाग में शामिल हुए। उनके नेतृत्व में ही वर्ष 2011 में एम्स में पल्मोनरी मेडिसिन का अलग विभाग बना। साथ ही इसमें सुपर स्पेशियलिटी कोर्स की शुरुआत हुई। उनकी उपलब्धियों के मद्देनजर ही अमेरिका के रोग नियंत्रण केंद्र ने उन्हें इंफ्लुएंजा पर शोध के लिए बुलाया था। इसके अलावा वह विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) के वैज्ञानिक सलाहकार समूह के भी सदस्य रह चुके हैं। वह वर्ष 2007 से अंतरराष्ट्रीय परमाणु ऊर्जा एजेंसी के सलाहकार हैं। इसके अलावा देश में बर्ड फ्लू, इबोला आदि बीमारियों की निगरानी के लिए गठित संयुक्त निगरानी समिति के सदस्य हैं।

 वर्ष 1998 से 2004 तक वह तत्कालीन प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के व्यक्तिगत चिकित्सक भी रह चुके हैं। वह अब भी उनका इलाज करते हैं।1उल्लेखनीय है कि 31 जनवरी को एम्स के पूर्व निदेशक डॉ. एमसी मिश्र की सेवानिवृत्ति के बाद संस्थान के निदेशक का पद खाली हुआ था। एम्स के इंस्टीट्यूट बॉडी (आइबी) ने 28 जनवरी को निदेशक पद के लिए पीडियाटिक विभाग के विभागाध्यक्ष डॉ. वीके पॉल, कार्डियोलॉजी विभाग के प्रोफेसर डॉ. बलराम भार्गव व डॉ. गुलेरिया के नाम का प्रस्ताव एसीसी को भेजा था।

Comments